IIT खड़गपुर के स्टूडेंट्स ने तैयार किया Electric 3-Wheeler व्हीकल, जानें खासियत

18/09/2019 - 12:17 | ,   | deepak

वाहनों के प्रदूषण को कम करने के लिए IIT खड़गपुर के स्टूडेंट ने मिलकर एक नए Electric 3-Wheelerस्कूटर को डेवलप किया है। स्टूडेंट की इस टीम का नेतृत्व संस्थान के मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग के प्रोफेसर विक्रांत राचेरला कर रहे हैं, जिसमें 50 स्टूडेंट की टीम ने मिलकर साथ कार्य किया है।

2 Iit Khdargput2

IIT खड़गपुर ने अपने एक बयान में कहा कि टीम द्वारा डिजाइन और बनाया गया नया ग्रीन वाहन 'DESHLA', थ्री-व्हीलर ऑटो और हाई-मेंटेनेंस ई-रिक्शा की वर्तमान जेनरेशन को एक मजबूत चुनौती देने के लिए तैयार है। अब इस व्हीकल के व्यावसायिक प्रोडक्शन के लिए राचेरला के नेतृतव में दो अन्य प्रमुख शोधकर्ता धन जुटाने पर कार्य कर रहे हैं।

क्या है खासियत

Feature 7 1

संस्थान ने कहा कि फिलहाल चल रहे वाहनों पर विचार करने से बेहतर हमने एक नए वाहन पर कार्य करने की सोची, क्योंकि आज के दौर में इलेक्ट्रिक व्हीकल काफी महत्वपूर्ण हैं। इसके डिजाइन की कल्पना, विश्लेषण, प्रोटोटाइप और प्रोडक्ट साइकिल को नए सिरे से डेवलप किया गया है।

यह भी पढ़ेः Ather Energy ने बंद किया अपना 340 इलेक्ट्रिक स्कूटर, बताई ये बड़ी वजह

यह नया व्हीकल एक पावरफुल मोटर से लैस है,जिसमें लिथियम आयन बैटरी की लगाई गई है। यह बैटरी 6-7 साल तक चल सकता है। इस व्हीकल की ज्यादा भार वहन क्षमता, मजबूत फ्रेम और आसान गतिशीलता का आईआईटी परिसर में सफल परीक्षण किया गया है।

लोगों में उत्साह

Iit

IIT KGP के कार्यवाहक निदेशक प्रोफेसर श्रीमन कुमार भट्टाचार्य ने कहा कि टेस्टिंग के दौरान यात्रा करने वाले स्थानीय ई-रिक्शा ड्राइवर इस वाहन के डिजाइन और उसके पीछे के अर्थशास्त्र को लेकर बहुत उत्साहित हैं।

यह भी पढ़ेः Gemopai Astrid Lite इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च, प्राइस 79,999 रूपए से स्टार्ट

इस परियोजना को उद्योगपति और आईआईटी केजीपी के प्रतिष्ठित पूर्व छात्र डॉ। पूर्णेंदु चटर्जी द्वारा वित्त पोषित किया गया था, जो द चटर्जी ग्रुप (टीसीजी) के संस्थापक और अध्यक्ष हैं।

[सोर्सः NDTV]

EV की ताज़ा खबरें

अन्य खबरें

फीचर स्टोरी