Apr-Sep में 4 प्रतिशत तक बढ़ा Passenger Vehicle का एक्सपोर्ट, Hyundai ने किया लीड

14/10/2019 - 12:58 | ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,   | deepak

चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में Passenger Vehicle  (पीवी) के एक्सपोर्ट में 4 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई है, जिन देशों में ये कारें एक्सपोर्ट की गई, वे देश क्रमशः- अफ्रीका और लैटिन अमेरिका हैं। यहां पर Hyundai मोटर इंडिया ने 1.03 लाख से अधिक कारों की यूनिट भेजकर नया कीर्तिमान स्थापित किया है।

Second Hand Cars 01 1

सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (SIAM) द्वारा जारी किए गए आकड़ों के मुताबिक चालू वित्त वर्ष के अप्रैल से सितंबर के बीच में पैसेंजर व्हीकल का एक्सपोर्ट 3,65,282 यूनिट रहा जबकि 2018-19 के इसी समय में 3,49,951 यूनिट थी।

अंग्रेजी वेबसाइट इकोमानिक टाइम्स में प्रकाशित खबर के मुताबिक कार शिपमेंट में 2,86,495 यूनिट्स के साथ 5.61 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई, जबकि यूटिलिटी व्हीकल एक्सपोर्ट में 77,397 यूनिट्स की मामूली बढ़ोतरी हुई। हालांकि, पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 1,919 यूनिट की तुलना में 1,390 यूनिट के साथ एक्सपोर्ट में 27.57 प्रतिशत की गिरावट देखी गई।

हुंडई मोटर इंडिया लिमिटेड ने किया लीड

Hyundai Elantra 66 4525

इस मामले में हुंडई मोटर इंडिया लिमिटेड (HMIL) ने इस सेगमेंट को लीड किया जबकि Ford India दूसरे और Maruti Suzuki India (MSI) तीसरे स्थान पर रही। दक्षिण कोरियाई वाहन निर्माता हुंडई ने अप्रैल-सितंबर के बीच में विदेशी बाजारों में 1,03,300 यूनिट को एक्सपोर्ट किया, जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि से 19.26 प्रतिशत अधिक है।

यह भी पढ़ेः पैसेंजर व्हीकल और बाइक की सेल्स में दो दशकों की सबसे बड़ी गिरावट

बता दें कि कंपनी अफ्रीका, मध्य पूर्व, लैटिन अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और एशिया प्रशांत में 90 से अधिक देशों में वाहनों का निर्यात करती है। कंपनी कुल मिलाकर दुनिया के 91 मार्केट की जरूरतों को पूरा करती है। इन देशों में हुंडई क्रेता और वेर्ना की बहुत मांग है।

ये कंपनिया भी रही लीडर

Ford Ka Freestyle Front Three Quarters

फोर्ड इंडिया ने अप्रैल-सितंबर के दौरान 71,850 यूनिट एक्सपोर्ट की। यह एक साल पहले की अवधि से 6.6 प्रतिशत से कम रहा । दूसरी ओर, घरेलू कार निर्माता मारूति सुजुकी इंडिय़ा ने वैश्विक बाजारों में 52,603 यूनिट एक्पपोर्ट की, जो जो पिछले साल की समान अवधि से 4.09 प्रतिशत कम है।

यह भी पढ़ेः सितम्बर की सेल्स में आया उछाल, 10 महीनों में सबसे ज्यादा बिके वाहन

जनरल मोटर्स इंडिया घरेलू बाजार में व्हीकल की बिक्री करना बंद कर दिया है, लेकिन इस कंपनी ने भी इस अवधि के दौरान 40,096 यूनिट सेल की। वाक्सवैगन इंडिया ने इस दौरान 37,908 यूनिट एक्सपोर्ट किया जबकि निसान मोटर इंडिया ने 33,337 यूनिट के साथ दौड़ में शमिल रही।

भारत की घरेलू कंपनियों का प्रदर्शन

Suzuki Dzire Maruti Dzire Rear Three Quarters

भारत की प्रमुख निर्माता महिंद्रा एंड महिंद्रा ने 7,280 यूनिट एक्सपोर्ट की जबकि रेनो ने इस अवधि के दौरान 6,885 यूनिट को बाहर भेजा। टोयोटा किर्लोस्कर मोटर ने अप्रैल-सितंबर की अवधि में 5,476 यूनिट और होंडा कार्स इंडिया ने वैश्विक बाजारों में 2,385 यूनिट एक्सपोर्ट किया। एक्सपोर्ट करने वाले वाहनों में टाटा मोटर्स एफसीए इंडिया प्रमुख रूप से शामिल रहे।

Hyundai India की ताज़ा खबरें

अन्य खबरें