The Beast: कई मायनों में खास है डोनाल्ड ट्रंप की कार, बम का भी नहीं होता असर

24/02/2020 - 14:03 | ,  ,   | deepak

फिलहाल अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का भारत में आगमन हो चुका है और गुजरात के मोटेरा में उनका भव्य स्वागत हुआ है। उनके स्वागत में भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अगवानी की और राष्ट्रपति के साथ उनकी पत्नि मलेनिया ट्रम्प भी हैं। इस दौरे की सबसे खास बात ये है कि ट्रंप के साथ उनकी कार The Beast भी है, जो दुनिया की सबसे सुरक्षित कार मानी जाती है। हम आपको इस कार के बारे में बताने जा रहे हैं।

Trump Car

आपको बता दें कि ट्रंप की कार The Beast दुनिया की सबसे दमदार कारों में से एक है, जिस पर बम का भी असर नहीं होता है। The Beast कार का प्रोडक्शन Cadillac कंपनी ने किया है जो कि एक आर्मर्ड लिमोजिन है। इसे पहली बार ट्रंप के काफिले में 24 सितंबर 2018 को शामिल किया गया था। इस कार के साथ कंपनी ने पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा की ऑफिशल लिमोजिन 'Cadillac One' को रिप्लेस किया है।

टायर नहीं होता पंचर

Cadillac One 1 9e56

कार में राष्ट्रपति ट्रंप की सीट के पास एक सेटेलाइट फोन लगाया गया है और इसका फोन अमेरिका के उप-राष्ट्रपति और पेंटागन (अमेरिकी डिफेंस डिपार्टमेंट का हेडऑफिस) से डायरेक्ट लाइन से टच में रहता है। The Beast के बॉडी की बात की जाए तो 5-इंच मोटी है और इसे स्टील, टाइटेनियम, ऐल्युमीनियम और सिरेमिक से प्रोड्यूज किया गया है।

संबंधित खबरः 6 मार्च को VW Tiguan Allspace भारत में होगी लॉन्च, अधिकारिक पूष्टि  

कार के फ्रंट में आंसू गैस ग्रेनेड लॉन्चर और नाइट विजन कैमरे हैं। चेसिस पर बेहद मजबूत स्टील प्लेट्स दिए गए हैं, जिसके चलते कार पर बम और माइन्स का भी असर नहीं होगा। इस कार की सबसे खास बात ये भी है कि इसके टायर पंचर नहीं होते हैं और अगर फट भी जाए तो भी सभी सवार सुरक्षित रहेंगे।

दो हिस्सों में बटा है केबिन

Cadillac One 2 Dd92

कार के पीछे के कम्पार्टमेंट में राष्ट्रपति के अलावा चार अन्य लोग भी बैठ सकते हैं और कैबिन को दो हिस्सों में बाटा गया। कार में इमरजेंसी की स्थ्ति से निपटने के लिए पैनिक बटन और ऑक्सीजन सप्लाई की भी व्यवस्था की गई है।

संबंधित खबरः लॉन्च होने से पहले जानें 2020 Hyundai i20 प्रीमियम हैचबैक की 10 खासियत

कार के विंडो को ग्लास और पॉलीकार्बोनेट की पांच लेयर से बनाया गया है, जिस पर गोलियों का कोई असर नहीं होता है। कार में आपको पम्प-ऐक्शन शॉटगन्स, आंसू गैस कैनन्स और अमेरिकी राष्ट्रपति के लिए ब्लड बैग्स और स्मोक स्क्रीन डिस्पेंसर हैं।

डोर्स बंद होने पर सील हो जाती है कार

The Beast Front

केबिन की बात करें ड्राइवर और राष्ट्रपति का कैबिन अलग-अलग देखने को मिलते हैं। ड्राइवर के कैबिन में प्रॉपर कम्युनिकेशन और जीपीएस ट्रैकिंग सेंटर है, जहां ड्राइवर को यूएस सीक्रेट सर्विस द्वारा ट्रेंड किय़ा गया है। इसलविए  ड्राइवर हर तरह की चुनौतीपूर्ण ड्राइविंग परिस्थिती का सामना कर सकता है।

संबंधित खबरः जापान में Mk4 Suzuki Jimny की 10 महीने वेटिंग लिस्ट, भारत में होगी लॉन्च?

ट्रंप की कार के डोर्स आर्मर-प्लेटेड 8-इंच मोटे हैं, जिसका वजन बोइंग 757 के कैबिन के डोर्स के वजन के बराबर है। कार का दरवाजा बंद होने के बाद 100 पर्सेंट सील हो जाती है और इसके बाद यह रासायनिक हथियारों से भी सुरक्षित हो जाती है। इस कार पर सीधी टक्कर का भी कोई असर नहीं होता है।

अन्य खबरें