कोरोनाः वाहन रजिस्ट्रेशन में 2% की वृद्धि, लेकिन उम्मीद से कम हुई बिक्री

16/03/2020 - 12:01 | ,  ,  ,  ,  ,  ,   | deepak

भारत में 1 अप्रैल साल 2020 से नया उत्सर्जन मानदंड लागू होने जा रहा है और विभिन्न कंपनियां छूट पर वाहनों को बेच रही है, जिसका सकारात्मक और नकारात्मक दोनों रूझान देखने को मिला है। फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (फाडा) की ओर से जारी किए गए आकड़ों के मुताबिक फरवरी में नए वाहनों के रजिस्ट्रेशन में 2 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

Car Sale 17cd

ऑर्गनाइजेशन के आकड़ों के मुताबिक फरवरी साल 2020 में बेचे गए कुल वाहनों की संख्या 17,11,711 यूनिट है, जबकि पिछले साल इसी समय (फरवरी 2019) में यह संख्या 16,68,268 यूनिट तक थी। इस तरह इस वृद्धि को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि अभी मार्च महीनें में भी वाहनों के रजिस्ट्रेशन में वृद्धि हो सकती है।

पैसेंजर व्हीकल में कमी

Mg Zs Ev Showcased India 1b52

आकड़ों के मुताबिक फरवरी 2020 में कुल मिलाकर 2,26,271 पैंसेजर व्हीकल के यूनिट बेचे गये है, इसमें 1.17 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी है, लेकिन टूव्हीलर की बिक्री में 12,85,398 यूनिट के साथ 1.52 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी है। हालांकि यह बिक्री उम्मीद से बहुत कम है लेकिन तमाम ऑटो एक्सपर्ट मानकर चल रहे हैं कि मार्च में अंतिम वक्त पर बीएस4 वाहन लोगों को लुभा सकते हैं।

संबधित खबरः Renault Duster से लेकर Jeep Compass तक, बीएस4 कारों की खरीद पर बंपर छूट

इसके अलावा इस कमी की वजह को कोरोना वायरस से भी जोड़कर देखा जा रहा है और लोग इसलिए भी वाहन नहीं खरीद पा रहे हैं, कि वाहन पार्ट्स को सीधे चीन से जोड़कर देखा जा रहा है। बीएस4 स्टॉक को खत्म करने के लिए वाहन डीलरों ने अधिक से अधिक डिस्काउंट व छूट दे रहे हैं। ऐसे में मार्च में इसमें वृद्धि होगी इस पर अभी की स्थितियों को देखते हुए स्पष्ट रूप से कुछ नहीं कहा जा सकता है।

कमर्शियल व्हीकल में वृद्धि

Ashok Leyland December Sales Down 28 Per Cent At 1

कमर्शियल व्हीकल सेगमेंट की बात करें तो फरवरी में 92,805 यूनिट की बिक्री हुई। एक साल पहले तक इसी दौरान 82,129 यूनिट्स की बिक्री हुई थी। इसमें साल दर साल के हिसाब से 13 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। ट्रैक्टर की खुदरा बिक्री फरवरी में 13.52 फीसदी बढ़कर पिछले साल के 36,543 से 41,485 यूनिट हो गई।

संबधित खबरः 2020 Geneva Motor Show कोरोना वॉयरस कारण हुआ कैंसल

फाडा के मुताबिक फरवरी माह में ज्यादातर वाहन कैटेगरी की बिक्री सकरात्मक रही है, जबकि कमी केवल पैंसेजर वाहन में देखने को मिली। मानकर चला जा रहा है कि अगर कोरोना का डर नहीं होता तो इसमें और वृद्धि होती। आमतौर पर पैंसेजर वाहन की इन्वेंटरी 10 - 12 दिन, दोपहिया वाहन की 20 - 25 दिन और कमर्शियल वाहन की 10 - 15 दिन तक चलती है। ऐसे में स्टॉक में कमी आ सकती है।

maruti suzuki की ताज़ा खबरें

अन्य खबरें