Maruti Suzuki भारत में लॉन्च करेगी प्योर CNG कारें

27/11/2019 - 12:30 | ,  ,   | deepak

मारुति सुजुकी (Maruti Suzuki ) ने हमेशा से ही कम्प्रेस्ड नेचुरल गैस (CNG) जैसे फ्यूल को ध्यान में रखकर अपनी कारों को प्राथमिकता दिया है। कंपनी ने 9 साल पहले करीब 2010 में अपना पहला सीएनजी (CNG) वाहन मार्केट में उतारा था और तब से लेकर अब तक वह देश में 5,00,000 से अधिक यूनिट कारों को भारत में बेचने में सफल रही है।

Maruti S Presso Images Front Three Quarters 2 2620

1 अप्रैल 2020 से पहले प्रत्येक वाहन का इंजन का बीएस-6 में  अपग्रेड करना अनिवार्य हो गया है। इससे कारों के प्रोक्शन की लागत भी बढ़ गई है। इसलिए कंपनी अब अपना ध्यान सीएनजी (CNG)  की ओर केन्द्रित करना चाहती है। कंपनी के पास पेट्रोल-सीएनजी वाहनों की भी एक बड़ी लाइन-अप है। लिहाजा अब मारूति सुजुकी भविष्य को देखते हुए प्योर सीएनजी वाहनों को मार्केट में उतार सकती है।

बेहतर नहीं है टू-फ्यूल ऑप्शन

Maruti S Presso Images Interior Dashboard 2476

आपको बता दें कि टू-फ्यूल सीएनजी (CNG)  मॉडल मौजूदा स्पार्क-इग्निशन (spark-ignition) पेट्रोल यूनिट पर बेस्ड है और सीएनजी (CNG) के साथ इस्तेमाल करके फिर से कैलिब्रेट किए जाते हैं। इस तरह की सेट-अप फीचर किसी भी समय पेट्रोल इंजन या सीएनजी (CNG) के इस्तेमाल करने की अनुमति देती है, लेकिन परफार्मेंस के लिहाज से इसे बेहतर नहीं माना जाता है।

इसे भी पढ़ेः बीएस-6 कंप्लेंट में Maruti WagonR 1.0 लीटर लॉन्च, जानें प्राइस और फीचर

लिहाजा मारुति सुजुकी प्योर सीएनजी (CNG) मॉडल की संभावना तलाशने की इच्छुक है। हालांकि कंपनी का मानना ​​है कि सीएनजी फिलिंग स्टेशनों का नेटवर्क अभी भी देश में बहुत कम है। इस तरह सरकार 2030 तक सीएनजी (CNG) स्टेशनों के नेटवर्क को 10,000 आउटलेट तक बढ़ाने पर विचार कर रही है।

क्य कहती है कंपनी

Maruti S Presso Images Action Front Three Quarters

इसे लेकर कंपनी का कहना है कि हमारे देश नें सीएनजी (CNG) स्टेशनों का नेटवर्क अभी डेवलपमेंट के दौर से गुजर रहा। इसलिए ग्राहक टू-फ्यूल इंजन को लेकर दुविधा में है। इस तरह कंपनी ग्राहकों को एक विकल्प देना चाहती है। क्योंकि इसकी लागत भी कम है।

इसे भी पढ़ेः 4 सालों में Maruti Baleno ने की 6.5 लाख यूनिट की रेकॉर्ड बिक्री

कंपनी ने कहा है कि क्लीनर वाहनों के इस्तेमाल के लिए सरकार कार्यरत है और आने वाले दिनों सीएनजी (CNG) वाहनों के लिए देश में अनुकुल वातावरण तैयार होगा। इसलिए हमारी चिंता सीएनजी (CNG) के कम स्टेशन नहीं है। लोग आने वाले दिनों में सीएनजी (CNG)  वाहनों को प्राथमिकता देने जा रहे हैं, जो कि कंपनी के लिए बिल्कुल सही है।

maruti suzuki की ताज़ा खबरें

अन्य खबरें

फीचर स्टोरी