कोरोनाः ऑटो उद्योग में मचा हाहाकार, रोज 2,300 करोड़ का नुकसान

30/03/2020 - 12:15 | ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,  ,   | deepak

भारत सहित पूरी दुनिया इस वक्त कोरोना (Corona) की गंभीर समस्या से जूझ रही है और तमाम दैनिक गतिविधियों के साथ आर्थिक गतिविधियां पूरी तरह ठप है। भारत में इस बीमारी में अब तक करीब 1024 लोगों की पूष्टि हो चुकी है, जबकि मौत का आकड़ा 28 को पार कर गया है। इस महामारी का असर ऑटोमोबाइल उद्योग पर भी पड़ा है और इससे हर दिन करीब 2,300 करोड़ रुपये के राजस्व के नुकसान का अंदेशा है।

Maruti1

भारत में वाहन निर्माताओं के सबसे बड़े संगठन सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (SIAM) ने अपने एक बयान में कहा है कि कोरोना वायरस महामारी के कारण विभिन्न वाहन निर्माता और पार्ट्स निर्माताओं द्वारा विनिर्माण संयंत्रों को बंद करने से प्रति दिन 2,300 करोड़ रुपये का राजस्व नुकसान होगा। ऐसी आशंका है कि ऑटो ओईएम और कलपुर्जों के संयंत्र बंद होने से टर्नओवर में प्रत्येक दिन लगभग 2,300 करोड़ रुपये का नुकसान होगा।

बंद कर दिया प्रोडक्शन

Maruti Suzuki Production

बता दें कि देश मे कार्यरत सभी प्रमुख वाहन निर्माताओं ने अपान प्रोडक्स प्लांट अस्थाई रूप से बंद कर रखा है। इनमें मारुति सुजुकी इंडिया (Maruti Suzuki India),  हुंडई (Hyundai), होंडा (Honda),  महिंद्रा (Mahindra), टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (Toyota Kirloskar Motor),  टाटा मोटर्स (Tata Motors), किआ मोटर्स (Kia Motors) और एमजी मोटर इंडिया (MG Motor India) शामिल हैं।

संबंधित खबरः  कोरोना: 31 मार्च के बाद भी बिकेंगे बीएस4 Vehicles, सुप्रीम कोर्ट ने दी राहत

इसी तरह तमाम दो पहिया वाहन निर्माता हीरो मोटोकॉर्प (Hero MotoCorp), होंडा मोटरसाइकिल और स्कूटर इंडिया (Honda Motorcycle and Scooter India ), टीवीएस मोटर कंपनी (TVS Motor Company),  बजाज ऑटो (Bajaj Auto), यामाहा (Yamaha) और सुजुकी मोटरसाइकिल (Suzuki Motorcycle) भी ने प्रोडक्शन बंद कर रखा है। इतना ही नहीं टायर निर्माताओं और अन्य प्रमुख ऑटो पार्ट्स निर्माताओं ने भी कोरोनोवायरस के प्रकोप के कारण प्रोडक्शन एक्टिविटी बंद कर रखी है।

दुनिया भर की कंपनियों ने की पेशकश

Automobile Shipping By Train

मारुति सुजुकी इंडिया (Maruti Suzuki India) ने हरियाणा में गुरुग्राम और मानेसर में उत्पादन और कार्यालय का संचालन बंद कर दिया है और कई कंपनिय़ों ने जरूरी कामों को घर से ही करने को कहा है। ऑटोमोटिव कंपनियां उत्पादन बंद करने के अलावा कोरोना से निपटने के लिए ग्राहकों को भी कई तरीकों से ध्यान रख रही हैं।  इतना ही कोरोना के इलाज में मदद के लिए कई कंपनियां आगे आ रही हैं और हर संभव अनुदान किया है। इनमें महिन्द्रा, बजाज, एमजी मोटर्स, टाटा मोटर्स, मारूति सुजुकी, हुंडई और हीरो आदि शामिल हैं।

संबंधित खबरः  कोरोना से लड़ने के लिए MG Motors ने मेडिकल सहायता के रूप में दिए 2 करोड़ रुपए

रोडसाइड असिस्टेंस के मामले में कंपनियां काफी मुस्तैदी भी दिखा रही हैं। दुनिया की कई निर्माता कंपनियों ने कोरोना से संक्रमित लोगों को बचाने के लिए वेंटिलेटर्स बनाने का भी प्रस्ताव रखा है जिसमें एलोन मस्क, जीएम, फोर्ड के साथ भारत के आनंद महिंद्रा भी हैं। इनमें से डोनाल्ड ट्रंप ने टेस्ला, जीएम और फोर्ड को वेंटिलेटर्स बनाने के लिए हरी झंडी दिखा दी है।

SIAM की ताज़ा खबरें

अन्य खबरें