Hyundai का ईएमआई एश्योरेंस प्रोग्राम, 15 महीने नहीं देनी होगी EMI

07/05/2020 - 20:13 | ,  ,  ,   | deepak

हुंडई इंडिया (Hyundai India) ने भारत में हुंडई ईएमआई एश्योरेंस (Hyundai EMI Assurance) स्कीम को लॉन्च कर दिया है। यह स्कीम अपने तरह की अनोखी स्कीम है और ऑटोमोबाइल उद्योग में पहली बार पेश किया गया है। इस स्कीम के तहत किसी की नौकरी जानें पर चुनिंदा ग्राहकों को 15 महीने तक ईएमआई नहीं देनी होगी। यानी कुल मिलाकर 15 महीनों तक ग्राहक इस कार्यक्रम के तहत सुरक्षित रहेंगे।

2020 Hyundai Creta Front Three Quarters Right Side

इस कार्यक्रम शुरू का उद्देश्य फाइनेंसियल हेल्थ और लॉकडाउन के कारण रोजगार में हानि होने पर कस्टमर की मदद करना होगा। इस बारे में कंपनी का कहना है कि ग्राहकों के बीच सकारात्मक भावनाओं को बढ़ाने और साथ ही सुविधा बढ़ाने के लिए निम्नलिखित कार्यक्रम को शुरू किया गया है। ये स्कीम खरीद प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए ग्राहकों को तीन कार लोन ईएमआई भी प्रदान करेगा।

क्या कहती है कंपनी

2020 Hyundai Verna Facelift Front Three Quarters 9

कंपनी ने कहा है कि हम व्हीकल खरीदने की इच्छा रखने वाले ग्राहकों की भावनाओं को समझते हैं और उन्हें वाहन खरीदने में आसानी हो। इस स्तर पर कार्य रहे हैं। कंपनी को यकीन है कि हुंडई ईएमआई एश्योरेंस प्रोग्राम निजी संगठनों में काम करने वाले हुंडई ग्राहकों को इससे राहत मिलेगी और हमारी कारों को लेकर लोगों के मन में सकारात्मक बाव पैदा होगा।

संबंधित खबरः Hyundai ने शुरू की ‘क्लिक टू बाय’ सर्विस, ऑनलाइन करें कार की खरीददारी

आपको बता दें कि कंपनी की ओर से पेश किए गए इस स्कीम के तहत पहले तीन महीनों को छोड़कर, कार की बिक्री की तारीख से एक वर्ष की अवधि के लिए ग्राहकों को कवर करेगा। बता दें कि कार निर्माताओं के लिए अप्रैल का महीना किसी बुरे सपने से कम नहीं था, जब देशव्यापी लॉकडाउन के कारण इस महीने में एक भी कार की बिक्री नहीं हुई।

अप्रैल में ठप रहा व्यवसाय

Hyundai Will Pay Your Car Emi If You Loose Your Jo

अप्रैल के पूरे महीने में फैक्ट्रियां बंद रहीं और शोरूम भी बंद रहे। इसलिए लाकडाउन से प्रभावित होने के बाद अब ऑटोमोबाइल कंपनियां बिक्री के बाद तेजी लाना चाहती हैं। ऑटो उद्योग में निराशा का मौजूदा दौर केवल भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में छाई है। अप्रैल के महीने में ब्रिटेन बिक्री 97 फीसदी तक गिर गई, जबकि अमेरिका में बिक्री में कम से कम 50 फीसदी की गिरावट देखी गई।

संबंधित खबरः कोरोनाः ऑटो इंडस्ट्री को लगा ऐतिहासिक झटका, नहीं बिके एक भी वाहन

इसके अलावा कंपनियां सावधानी भी बरत रही हैं। इसलिए सर्विस सेंटर्स और शोरूमों को अब यह भी दिशा-निर्देश दिए जा रहे हैं कि स्वच्छता को कैसे बेहतर रखा जाए और सैनेटाइजेशन की प्रक्रियाओं को पूरा किया जाए। कई कंपनियों ने सामाजिक दूरी को बनाए रखने के लिए अपने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिये बिक्री को तेज कर दिया है और ग्राहक डिजिटल माध्यम से कारों की बुकिंग कर सकते हैं।

Hyundai की ताज़ा खबरें

अन्य खबरें

फीचर स्टोरी